आख़िरकार लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में आंतरिक कलह हो ही गई, दल दो गुटों में बंट गया है। बागी नेताओं ने चिराग पासवान को अध्यक्ष पद से हटा दिया है। बिहार की राजनीति में आये इस सियासी तूफान के बाद सत्ताधारी पार्टी जेडीयू (JDU) ने दावा किया है कि अब कांग्रेस में भी आंतरिक कलह की वजह से टूट हो सकती है। जदयू ने दावा किया है कि कांग्रेस के कई विधायक भी उनके संपर्क में हैं और जल्द ही पार्टी में टूट हो सकती है। अपने दिल्ली दौरे से पटना लौटे जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने यहां लोजपा की आंतरिक कलह की वजह से टूट में जेडीयू के किसी प्रकार की भूमिका होने से साफ़ इनकार करते हुए कहा कि उनके बिच आपसी पारिवारिक विवाद के कारण लोजपा टूटी है। जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने हालांकि कांग्रेस में टूट की संभावना जताई है।

उन्होंने कहा, कांग्रेस के कई विधायक और नेता उनके संपर्क में हैं और जेडीयू की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं। जेडीयू नेता ने यह भी कहा कि वर्तमान में कांग्रेस (Congress) एक डूबती नैया है और उसमें कोई भी सवार होना नहीं चाहेगा। उल्लेखनीय है कि राज्य में पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में NDA गठबंधन में शामिल जेडीयू, NDA में दूसरे नंबर की पार्टी बन गई है। राजग गठबंधन में अभी भाजपा (BJP) सबसे बड़ी पार्टी है। चुनाव परिणाम के बाद से ही जेडीयू अपने कुनबे को बड़ा करने में जुटी है। बिहार विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में लोजपा और बसपा (BSP) ने मात्र एक-एक सीट पर जीत दर्ज की थी, बाद में जाकर दोनों दलों के विधायक जदयू में शामिल हो चुके हैं। अब ऐसे में माना जा रहा है जेडीयू खुद को मजबूत करने के लिए कांग्रेस के विधायकों को भी अपने पार्टी में मिला सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here