CAA and NRC

CAA and NRC : राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और NRC को लेकर देश के मुसलमानों को आश्वासन देते हुए कहा है कि उन्हें इससे कोई नुकसान नहीं होगा। बता दें कि ये बातें संघ प्रमुख मोहन भागवत ने असम के अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान कही हैं। संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने कहा कि CAA और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) का हिंदू-मुसलमान विभाजन से कोई लेना-देना नहीं है।

संघ प्रमुख मोहन भागवत कहा कि कुछ लोग अपने राजनीतिक लाभ के लिए इन दोनों मामलों को साम्प्रदायिक रंग दे रहे हैं। उन्होंने बल देते हुए कहा कि इस नागरिकता कानून (citizenship law) के कारण किसी मुसलमान को कोई नुकसान नहीं होगा।

CAA and NRC : असम के दो दिवसीय दौरे पर RSS प्रमुख

भागवत ने सिटिजनशिप डिबेट ओवर एनआरसी एंड सीएए-असम एंड द पॉलिटिक्स ऑफ हिस्ट्री (Citizenship Debate Over NRC and CAA-Assam and the Politics of History) शीर्षक वाली पुस्तक के विमोचन के बाद कहा कि आज़ादी के बाद देश के पहले प्रधानमंत्री ने कहा था कि अल्पसंख्यकों (minorities) का ध्यान रखा जाएगा और अब तक ऐसा ही किया गया है।

हम ऐसा करना जारी रखेंगे, CAA के कारण किसी मुसलमान को कोई नुकसान नहीं होगा। इस अवसर पर RSS प्रमुख ने कहा कि हमें धर्मनिरपेक्षता (secularism), समाजवाद (Socialism) या लोकतंत्र (democracy) दुनिया से सीखने की जरूरत नहीं है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here