WHO HR POST

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अलर्ट किया है कि अगर वर्तमान में Coronavirus Delta Variant का मौजूदा ट्रेंड जारी रहता है, तो कोविड-19 के सबसे अधिक संक्रामक वैरिएंट में से एक डेल्टा वैरिएंट, के अन्य वैरिएंट के मुकाबले दुनिया भर में फैलने की आशंका है। WHO की यह वार्निंग ऐसे समय में आई है जब 85 से अधिक देशों में इस वैरिएंट के मिलने की पुष्टि हुई है और दुनिया के अन्य देशों में भी धीरे धीरे इसके मामले सामने आते जा रहे हैं।

WHO द्वारा 22 जून को जारी कोविड-19 साप्ताहिक महामारी विज्ञान अपडेट (COVID-19 Weekly Epidemiological Updates) में कहा गया कि वैश्विक स्तर पर, अल्फा वैरिएंट (Alpha Variant) 170 देशों या इलाकों में मिला है वहीं बीटा वैरिएंट (Beta Variant) 119 देशों में तथा गामा वैरिएंट (Gamma Variant) 71 देशों में और डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) का 85 देशों में पता चला है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा कि चार मौजूदा वैरिएंट– अल्फा, बीटा, गामा और डेल्टा पर लगातार नजर रखी जा रही है, जो बड़े पैमाने पर पुरे विश्व में फैले हुए हैं।

अपडेट में कहा गया है कि क्षेत्र में साप्ताहिक मामले कम होने और मौत की संख्या घटने का चलन मुख्यत: भारत में मामले घटने से जुड़ा हुआ है। World Health Organization ने कहा कि 8 जून को अंतिम विस्तृत अपडेट के बाद से, डेल्टा स्वरूप के प्रारूपी विशेषताओं (Typical Characteristics of the Delta Format) पर नये साक्ष्य प्रकाशित हुए हैं। वहीं, जापान के एक अध्ययन में भी पाया गया कि डेल्टा वैरिएंट, अल्फा वैरिएंट की तुलना में अधिक संक्रामक है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here