Dark Truth of Mughal Era

Dark Truth of Mughal Era : भारतवर्ष पर लंबे समय तक मुगल बादशाहों का शासन रहा। इस दौरान एक के बाद एक बादशाह ने काफी शानो-शौकत भरा जीवन व्यतीत किया। मुग़ल बादशाहों (Dark Truth of Mughal Era) द्वारा लागू कड़े नियमों को लोग आज भी याद करते हैं।

ये मुगल बादशाह अपने स्वार्थ के लिए ऐसे नियम बनाते थे कि लोगों के लिए इसका पालन करना मुश्किल हो जाता था। इतिहास के मुताबिक मुगलों ने लगभग 1526 से 1707 तक भारत पर शासन किया था, जिसकी शुरुआत बाबर (Babar) से हुई जब उसने पानीपत की पहली लड़ाई (First Battle Of Panipat) में इब्राहिम लोदी (Ibrahim Lodi) को हराकर अपना राज्य स्थापित किया।

Dark Truth of Mughal Era : आमतौर पर भाइयों और बहनों के बच्चों के साथ शादी की जाती थी 

मुगल राज में राजकुमारियों के विवाह को लेकर हमेशा सवाल उठते थे। क्योंकि कहा जाता है कि मुगल बादशाहों ने अपनी बेटियों की शादी नहीं की। ऐसा माना जाता है कि मुगल काल के दौरान सम्राटों (Mughal Emperors) ने अपनी राजकुमारियों के विवाह पर प्रतिबंध लगा दिया था और जिसके लिए अकबर (Akbar) को जिम्मेदार ठहराया गया था।

लेकिन मुगल काल (Mughal Era) के इतिहास में कभी भी अकबर या किसी ऐसे सम्राट का जिक्र नहीं आया जिसने मुगल राजकुमारी के विवाह पर प्रतिबंध लगा दिया था। कहा जाता है कि मुगल बादशाह बेटियों की शादी किया करते थे, लेकिन वे अपने करीबी रिश्तेदारों से ही अपनी बेटियों (Dark Truth of Mughal Era) की शादी करवाते थे। हालांकि इसका ठोस कारण नहीं बताया गया है, लेकिन कहा जाता है कि मुग़ल सम्राट अपनी सत्ता को बनाए रखने के लिए अपनी बेटियों की शादी अपने रिश्तेदारों में कर देते थे।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here