Delhi Bomb Blast Case

Delhi Bomb Blast Case : दिल्ली साल 1993 में हुए बम धमाके के मामले (Delhi bomb blast case) के दोषी देविंदर पाल सिंह भुल्लर (Convict Devinder Pal Singh Bhullar) की समय पूर्व रिहाई पर सजा समीक्षा बोर्ड (एसआरबी) ने अपना फैसला टाल दिया है। दिल्ली सरकार ( Delhi Govt) ने बताया कि गृह मंत्री सत्येंद्र जैन (Home Minister Satyendar Jain) की अध्यक्षता वाले बोर्ड ने बुधवार को अगली (Delhi Bomb Blast Case) बैठक तक इस मामले को टाल दिया।

भुल्लर फिलहाल अमृतसर जेल (Amritsar Jail) में बंद है। भुल्लर की रिहाई के लिए सिख समूहों की मांग ने पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) से पहले तूल पकड़ लिया था।

Delhi Bomb Blast Case : समय पूर्व रिहाई पर सजा समीक्षा बोर्ड ने अपना फैसला टाला

दिल्ली में साल 1993 में हुए (Delhi Bomb Blast Case 1993) बम विस्फोट में 9 लोगों की हत्या और 31 लोगों को घायल करने के मामले में भुल्लर को गुनाहगार ठहराया गया था। हमले में बचने वालों में युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एमएस बिट्टा (MS Bitta) भी शामिल है। भुल्लर को 25 अगस्त 2001 को एक टाडा अदालत (TADA court) ने मौत की सजा सुनाई थी।

हालांकि सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने उसकी मौत की सजा को कम करके आजीवन कारावास (Life Imprisonment) कर दिया। भुल्लर को जून 2015 में सेहत संबंधी कारणों से दिल्ली की तिहाड़ जेल (Tihar Jail) से अमृतसर केंद्रीय कारागार (Amritsar Central Jail) में स्थानांतरित किया गया था।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here