Heart Attack Causes

Heart Attack Causes, Symptoms And Home Remedies : मानव हृदय की मांसपेशियों को जीवित रहने एवं रक्त संचार के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। किसी इन्सान को दिल का दौरा (Heart Attack) तब पड़ता है जब हृदय की मांसपेशियों में ऑक्सीजन लाने वाला रक्त प्रवाह गंभीर रूप से कम हो जाता है या पूरी तरह से ब्लाक हो जाता है। आज हम इस ब्लॉग में (Home Remedies For Heart Attack In Hindi) आपको हार्ट अटैक के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज के बारे में बता रहे हैं,  विस्तार से जानने के लिए पूरा ब्लॉग जरुर पढ़ें। 

ADVERTISEMENT

Heart Attack Causes, Symptoms And Home Remedies : हार्ट अटैक के कारण एवं लक्षण

कोल्ड स्वैट (Heart Attack Causes), थकान महसूस होती है, साँस लेने में परेशानी होती है, शरीर का भार कम महसूस होता है, चक्कर आते हैं, बाएँ हाथ में दर्द होता है, उल्टी महसूस होती है, अपच की समस्या (Causes Of Heart Attack In Hindi) भी हो सकती है, सीने में जलन होती है। सीने में दर्द या बेचैनी होना – ज्यादातर दिल के दौरे में छाती के केंद्र या बाईं ओर बेचैनी होती है जो कुछ मिनटों से अधिक समय तक रहती है या जो दूर होकर वापस आ जाती है।

Heart Attack Causes

बेचैनी असहज दबाव, निचोड़ने, परिपूर्णता या दर्द की तरह महसूस कर सकती है। कमजोर, हल्का-हल्का, या बेहोशी महसूस करना – आप ठंडे पसीने में भी निकल सकते हैं।जबड़े, गर्दन या पीठ में दर्द या बेचैनी – एक या दोनों बाहों या कंधों में दर्द या बेचैनी। एक या दोनों बाहों या कंधों में दर्द (Symptoms Of Heart Attack In Hindi) या बेचैनी। सांस की तकलीफ – यह अक्सर सीने में तकलीफ के साथ आता है, लेकिन सांस की तकलीफ सीने में तकलीफ होने से पहले भी हो सकती है।

 हार्ट अटैक के घरेलू इलाज 

Heart Attack Causes

काली मिर्च कॉर्डियोप्रोटेक्ट‍िव एक्शन (Cardioprotective Action) को सक्रिय करने का काम करती है। काली मिर्च न केवल ऑक्सीडेटिव डैमेज (Oxidative Damage) से सुरक्षा देती है बल्कि कार्डियक फंक्शन (Cardiac Function) को भी बढ़ाती है।

बॉडी में कोलेस्ट्रॉल का बढ़ा हुआ स्तर दिल से जुड़ी बीमारियों का सबसे बड़ा कारण है। आपको बता दें कि आप लहसुन का सेवन करके कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं। लहसुन में एलिसिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट (Allicin Anti-oxidant) पाया जाता है जो न केवल कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है बल्क‍ि ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को भी कंट्रोल करता है।

एंटी-ऑक्सीडेंट (Anti-oxidant) और एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुणों से भरपूर हल्दी ब्लड कोलेस्ट्रॉल लेवल (Blood Cholesterol Level) को कम करने में मददगार है।

भोजन में नियमित रूप से दालचीनी का सेवन करने से ब्लड फ्लो बेहतर होता है। जिससे खून का थक्का बनने की आशंका बहुत कम हो जाती है। दिल से जुड़ी बीमारियों से (How To Avoid Heart Diseases) सुरक्षित रहने के लिए प्रतिदिन भोजन में चुटकीभर दालचीनी (cinnamon) का उपयोग जरुर करें।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here