बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए 5 मई 2021 से तीन सप्ताह के लिए लॉकडाउन लगाया गया था। आज हुए मंत्रिमंडल एवं पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक में राज्य में कोरोना संक्रमण के स्थिति की समीक्षा की गयी राज्य में कोरोना संक्रमण की दर कम करने में लॉकडाउन को प्रभावी माना गया है। राज्य सरकार ने एक बार पुनः लॉकडाउन की सिफारिश की है और तत्काल प्रभाव से यह आदेश लागू किया जाएगा। पूर्व की तरह बाज़ार, ज़रूरी सेवाएं समयानुसार खुली रहेंगी। सोमवार को मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण की अध्यक्षता में गठित आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, शिक्षा, श्रम संसाधन के साथ ही पुलिस व अन्य विभागों के वरिष्ठ एवं अनुभवी अधिकारीयों ने कोरोना के हालात पर विचार विमर्श किया।

ADVERTISEMENT

इस बैठक में लॉकडाउन-3 पर अंतिम फैसला लिया गया। इसके पहले रविवार को मुख्य सचिव ने गृह, स्वास्थ्य और पुलिस अधिकारियों के साथ कोरोना के हालात और लॉकडाउन को लेकर विचार-विमर्श किया। कई विभागों ने लॉकडाउन लागू रखने के पक्ष में राय दी। कई अधिकारियों ने पांच जून तक लॉकडाउन बढ़ाने की सलाह दी। राज्य के विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों ने भी लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में अपनी राय दी। सभी अधिकारी,आपदा प्रबंधन ग्रुप, जिलाधिकारी की संयुक्त बैठक बुलाई गयी जिसमे यह निर्णय लिया गया कि राज्य में लॉक डाउन को 1 जून तक बढाया जाए।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here