बिहार राज्य, आपदा प्रबंधन विभाग ने ‘यास’ तूफान के मद्देनज़र राज्य के सभी जिलों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। सभी जिलाधिकारियों को तूफान की आशंका को देखते हुए किसी भी प्रकार की उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए तैयारी कर लेने को कहा गया है। साथ ही,सभी जिलों में तैनात आपदा मोचन बल को भी हाई अलर्ट मोड में रहने का निर्देश दिया गया है। इस तूफान का असर बिहार में 25 से 30 मई के बीच दिख सकता है। इस अवधि के दौरान भारी वर्षा और तेज हवा के साथ ठनका गिरने की घटना हो सकती है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, दिल्ली ने राज्य आपदा प्रबंधन विभाग को तूफान की आशंका की जानकारी दी है। इसके लिए आपदा प्रबंधन को भेजे गये पत्र में मौसम विभाग ने कहा कि ‘यास’ तूफान बंगाल की खाड़ी में दीघा के पास दिख रहा है। यह तूफान पश्चिम बंगाल और उत्तर ओडिशा के तटवर्ती भाग को 26 मई को क्रास करेगा। उन क्षेत्रों में भी भारी वर्षा और तेज आंधी से पेड़ गिरने और मकान आदि को नुकसान पहुंचने की आशंका जताई गई है। मौसम विभाग ने कहा है कि इस तूफान के कारण 25 से 30 मई तक बिहार में कुछ जिलों में भारी वर्षा हो सकती है। साथ ही, वज्रपात की आशंका भी है। इसका असर 27 और 28 मई को सबसे अधिक दिख सकता है। मौसम विभाग का कहना है की कहीं कहीं पर तूफान का असर 28 घंटे तक रह सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here