Saraswati Puja 2022

Saraswati Puja 2022 : आज यानि 05 फरवरी को वसंत पंचमी का पर्व बहुत ही शुभ योग के साथ मनाया जा रहा है। वसंत पचंमी का पर्व अबूझ मुहूर्त होता है। इस दिन मां सरस्वती की पूजा (Saraswati Puja 2022) आराधना बहुत ही शुभ मानी गई है। वसंत पंचमी (Basant Panchami 2022) का पावन त्योहार पूरे देश में उत्साह के साथ मनाया जा रहा है।

वसंत पंचमी के दिन ज्ञान, वाणी और विद्या की देवी मां सरस्वती (Goddess Maa Saraswati) की विधि-विधान के साथ पूजा आराधना की जाती है। वसंत पंचमी के पर्व को ऋतुराज वसंत के आगमन का प्रतीक माना जाता है। वसंत पंचमी को देश के कई हिस्सों में अलग-अलग नामों से जैसे वागेश्वरी जयंती (Vageshwari Jayanti) और श्री पंचमी (Sri Panchami) के नाम से मनाया जाता है। हिंदू पंचांग (Hindu calendar) के अनुसार हर वर्ष वसंत पंचमी माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि यानी पांचवें दिन मनाई जाती है।

Saraswati Puja 2022 : वसंत पंचमी शुभ मुहूर्त (Basant Panchami Shubh Muhurat)

आपको बता दें कि हिंदू पंचांग के अनुसार माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि 05 फरवरी की सुबह 03 बजकर 47 मिनट से प्रारंभ हो जाएगी यह तिथि अगले दिन 06 फरवरी को सुबह 03 बजकर 46 मिनट तक रहेगी।

Saraswati Puja 2022

वसंत पंचमी के दिन माता सरस्वती की पूजा सूर्योदय के बाद और दोपहर से पहले करने का विधान होता है। ऐसे में सरस्वती पूजा के साथ अन्य मांगलिक कार्य का शुभ मुहूर्त सुबह 07 बजकर 07 मिनट से 12 बजकर 35 मिनट तक रहेगा। इस तरह से वसंत पंचमी के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त कुल मिलाकर 05 घंटे 28 मिनट तक का रहेगा। जिसमें पूजा करना सर्वश्रेष्ठ और शुभ फलदायी रहेगा।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here