SII PUNE

पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने नोवावैक्स के प्रोटीन आधारित वैक्सीन, कोवोवैक्स का उत्पादन शुरू कर दिया है। फ़िलहाल कंपनी का कहना है कि जुलाई से बच्चों के लिए नोवावैक्स वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल भी शुरू करेगी। SII के सीईओ अदर पूनावाला ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर लिखा, कोवोवैक्स के पहले बैच को इस सप्ताह पुणे में हमारे प्लांट में में निर्मित होते हुए देख सभी उत्साहित हैं। हाल ही में जारी आंकड़ों में लेवल-3 टेस्टों के परिणामों के मुताबिक, कोवोवैक्स ने कोविड-19 के खिलाफ लगभग 90 प्रतिशत प्रभावकारिता दिखाई है। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि एसआईआई के चरण -2 और 3 क्लिीनिकल ट्रायल को कथित तौर पर 920 बच्चों, 12-17 वर्ष और 2-11 वर्ष के समूहों में प्रत्येक में 460 बच्चों पर किया जाएगा।

अगस्त 2020 में, नोवावैक्स और एसआईआई (SII) ने एक समझौते की घोषणा की थी जिसके तहत अमेरिकी जैव प्रौद्योगिकी कंपनी (American Biotechnology Company) ने एसआईआई को निम्न और मध्यम आय वाले देशों में वैक्सीन के निर्माण और आपूर्ति (Manufacture and Supply) का लाइसेंस दिया था। हलांकि, SII के सीईओ पूनावाला ने कहा कि कोवोवैक्स को इस साल सितंबर तक लॉन्च किया जाएगा। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदर पूनावाला ने कहा, कोवोवैक्स का ट्रायल आखिरकार भारत में शुरू हो गया है। बता दें कि ये वैक्सीन, नोवावैक्स और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा साझेदारी के जरिए बनाई गई है। इस टीके के भारत में सितंबर 2021 तक लॉन्च होने की उम्मीद है। हाल ही में, केंद्र ने कहा कि एक बड़े ट्रायल में नोवावैक्स कोविड वैक्सीन प्रभावकारिता डेटा (Novavax COVID Vaccine Efficacy Data) आशाजनक है और क्लिीनिकल ट्रायल किए जा रहे हैं।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here