जम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन (Jammu Air base) के टेक्निकल एरिया में शनिवार को देर रात को किए गए दो धमाकों को अंजाम देने के लिए दो ड्रोन (Drone) के इस्तेमाल करने का संदेह है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जम्मू एयरपोर्ट के पास एयरफोर्स के बेस स्‍टेशन पर हमले को अंजाम देने के लिए दो ड्रोन (Drone) का उपयोग किया गया है। जम्मू एयर बेस पर हुए इस ड्रोन विस्फोट में भारतीय वायु सेना (IAF) के दो कर्मियों को हल्की चोटें आईं हैं। सूत्रों से मिल रही खबर के मुताबिक, ड्रोन हमले का संभावित लक्ष्य पार्किंग एरिया में खड़े एयरक्राफ्ट थे। इस आतंकी हमले के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वाइस एयर चीफ, एयर मार्शल एच एस अरोड़ा से इस घटना के संबंध में बात की है।

एयर मार्शल विक्रम सिंह स्थिति की समीक्षा करने के लिए जम्मू पहुंच रहे हैं। खबर मिली है कि Indian Air Force (IAF) का एक उच्च स्तरीय जांच दल शीघ्र ही जम्मू पहुंच रहा है। इंडियन एयरफोर्स ने ट्वीट कर के बताया है कि जम्मू Air Force Station के टेक्निकल इलाके में रविवार सुबह दो कम तीव्रता वाले धमाकों की सूचना मिली है। एक विस्फोट से बेस स्टेशन के एक इमारत की छत को मामूली नुकसान पहुंचा, जबकि दूसरा खुले एरिया में फटा। हलांकि, किसी भी उपकरण को कोई नुकसान नहीं हुआ। इंडियन एयरफोर्स ने जानकारी दी है कि इस मामले में सभी बिन्दुओं को ध्यान में रख कर गहन जांच चल रही है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here