भारतीय मुस्लिमों की हज यात्रा के संबंध में केंद्र सरकार ने आज शनिवार को महत्वपूर्ण जानकारी दी। सरकार ने कहा कि भारतीय मुस्लिम समुदाय इस साल सऊदी अरब हज यात्रा पर जा सकेगा या नहीं इसका फैसला खुद वहां की सरकार को ही करना है। केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्यतार अब्बास नकवी ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस साल की हज यात्रा सऊदी अरब की सरकार के निर्णय पर निर्भर करेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत इस संबंध में सऊदी सरकार के फैसले के साथ खड़ा रहेगा।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पिछले साल हज यात्रा कोरोना के कारण रद्द कर दी गई थी और इस साल भी अभी तक इस संबंध में कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है। अगर देखा जाए तो कोरोना वायरस की वजह से भारतीय मुस्लिमों को हज यात्रा के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। कोरोना वायरस से दुनियाभर में पैदा हुई संकट की वजह से सऊदी अरब ने पिछले साल किसी भी देश को बड़े स्तर पर हज यात्रा की अनुमति नहीं दी थी। सिर्फ चंद चुनिंदा लोगों को ही हज की अनुमति थी।

इस बीच सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाले इंडोनेशिया ने कोरोना काल को देखते हुए तीर्थ यात्रियों को हज यात्रा पर नहीं भेजने का फैसला लिया है। धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि कोरोना महामारी और हज यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए सरकार ने इस साल भी इंडोनेशिया से तीर्थयात्रियों को हज पर नहीं भेजने का फैसला लिया है। प्रवक्ता ने ये भी कहा कि फ़िलहाल सऊदी अरब ने भी हज यात्रा के लिए अभी तक अनुमति नहीं दी है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here