The Kashmir Files Review

The Kashmir Files Review : अनुपम खेर (Anupam Kher) और मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) अभिनीत फिल्म द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) हर वर्ग के दर्शक को बेहद पसंद आ रही है और आपको बता दें कि ये फिल्म अपनी कहानी की वजह से ये खासी चर्चा में बनी हुई है। इस फिल्म को बनाने वाले निर्देशक विवेक रंजन अग्निहोत्री ने कश्मीर (Vivek Ranjan Agnihotri’s The Kashmir Files) की तीन दशक से अधिक पुरानी अतीत को दर्शकों के सामने (The Kashmir Files Review In Hindi) लाया है जो आजकल किसी फिल्म में नहीं दिखाया गया है।

The Kashmir Files Review : द कश्मीर फाइल्स में कश्मीरी पंडितों के नरसंहार को दिखाया गया है

फिल्म की कहानी कश्मीर के एक टीचर पुष्कर नाथ पंडित (Anupam Kher) की जिंदगी के इर्द-गिर्द घूमती है। कृष्णा (Darshan Kumar) दिल्ली से कश्मीर आता है, अपने दादा पुष्कर नाथ पंडित की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिए। कृष्णा अपने दादा के जिगरी दोस्त ब्रह्मा दत्त (Mithun Chakraborty) के यहां ठहरता है। इसके बाद फिल्म की कहानी पूरी तरह से फ्लैशबैक (Vivek Ranjan Agnihotri’s The Kashmir Files) में चली जाती है और साल 1990 की कहानी को हर तरह से दिखाया जाता है कि आखिर उस दौर में कश्मीर कैसा था और कश्मीरी पंडितों पर वो साल कितना भारी पड़ा था।

The Kashmir Files Review

आप खुद को फिल्म देखते वक्त (The Kashmir Files Review) रोता हुआ पाएंगे, क्योंकि कैसे आतंकी गोलियों से हिंदुओं (The Kashmir Files Review) को एक कतार में खड़ा करके गोलियों से भून देते हैं और इसका गवाह बच्चे से लकर बूढे तक बनते हैं। कलाकारों ने (Story Of The Kashmir Files) अपने अभिनय से इस फिल्म को एक नई ऊंचाई पर पहुंचाया है और अनुपम खेर से लेकर (The Kashmir Files Cast) मिथुन चक्रवर्ती तक ने ये साबित कर दिया है कि आखिर फिल्म में उनका होना क्यों जरुरी था। वहीं, पल्लवी जोशी फिर से अपने किरदार में रंग जाती हैं और फिल्म के बाकी किरदारों ने भी अपने किरदार के साथ पूरा न्याय किया है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here