Review

Review : वो एक दौर था जब जीन-क्लाउड वैन डेम ने Muscles from Brussels और Bloodsport जैसी बेहतरीन फिल्मों से अपने प्रशंसकों को दीवाना बनाया था। लेकिन वह समय 1988 का था। 2021 में जब जीन-क्लाउड वैन डेम 60 साल के हो चुके हैं, तो उनके प्रशंसकों को उन्हें द लास्ट मर्सिनरी में देखने का मौका मिला है। लेकिन शायद पुलिस के बारे में मजेदार फिल्में द पिंक पैंथर के साथ समाप्त होनी चाहिए थी। 

ADVERTISEMENT

इस फिल्म में वैन डेम ने अपने बेटे को किसी ऐसे व्यक्ति की देखभाल में छोड़ दिया है जो जैनिटर (janitor) होने का नाटक कर रहा है और फ्रांसीसी सरकार लड़के की देखभाल के लिए प्रति माह लगभग 1500 यूरो का भुगतान करती है। बेटा बड़ा होकर एक गैर जिम्मेदार इन्सान बन जाता है जो अपने जीवन में कुछ भी अच्छा करने के बजाय वीड बेचना पसंद करता है। आगे फिल्म में एक सरकारी अधिकारी नोटिस करता है कि वैन डेम के बेटे द्वारा अनुमति से अधिक धन निकाला जा रहा है, तो सरकारी भत्ता रोक दिया जाता है। क्योंकि उन्हें शक है कि कोई और पहचान का इस्तेमाल हर तरह के बुरे काम करने के लिए कर रहा है।

Review : OTT प्लेटफार्म नेटफ्लिक्स (Netflix) पर की गयी रिलीज़ फिल्म

आपको बता दें कि यह किसी भी जीन-क्लाउड वैन डेम के हिट मूवीज की तरह नहीं है जिसे आपने देखा है। यह सिर्फ सादा भयानक है। यह बॉलीवुड के कुछ खलनायकों से भी बदतर है जिन्हें हमने 1970 के दशक में देखा है। 1980 के दशक के एक्शन सितारों जैसे स्ली स्टेलोन ने खुद को उम्र-उपयुक्त भूमिकाओं में फिर से खोजा है। लेकिन यह वैन डेम पर बिल्कुल भी ठीक नहीं बैठता है। इस फिल्म में जबरदस्ती कॉमेडी करने की कोशिश की गयी है जो फिल्म को और ज्यादा बेकार बनाती है।

ये जगजाहिर है कि जब एक्शन स्टार बड़े कलाकार होते हैं तो अच्छी भूमिकाएं मुश्किल से ही मिलती हैं, बेहतर होगा जीन-क्लाउड वैन डेम जैसे बड़े सितारे ऐसी बेकार स्क्रिप्ट पर काम न करें। कुल मिलाकर द लास्ट मर्सिनरी (The Last Mercenary) नेटफ्लिक्स (Netflix) की एक और गलती है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here