महाराष्ट्र राज्य में कोविड-19 (COVID-19) के बहुत ही खतरनाक स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ के अभी तक 21 मामले दर्ज़ किये जा चुके हैं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने ये जानकारी दी कि इस वैरिएंट के सबसे अधिक नौ मामले रत्नागिरी जिले, जलगांव में सात मामले, मुंबई में दो और ठाणे, पालघर तथा सिंधुदुर्ग जिले में एक-एक मामला सामने आया है।

उन्होंने बताया कि राज्य के विभिन्न जगहों से 7,500 से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। ये नमूने 15 मई तक एकत्रित किए गए थे और इनका जीनोम सिक्वेंसिंग किया जा चुका है।

जीनोम सिक्वेंसिंग से सार्स-सीओवी-2 (Sars-Cov-2) में छोटे से छोटे उत्परिवर्तन का भी पता चल जाता है। श्री टोपे ने बताया कि जो लोग डेल्टा प्लस वैरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं, उन्होंने कोविड-19 रोधी टीका लगवाया था या नहीं और क्या वे दोबारा संक्रमित हुए? उनसे जुड़ी अन्य सभी तरह की जानकारी एकत्रित की जा रही है।

उन लोगों के सम्पर्क में आए लोगों की भी पहचान की जा रही है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले सप्ताह एक चेतावनी दी थी जिसमें ये कहा गया था कि इस कोरोना वायरस संक्रमण का नया स्वरूप डेल्टा प्लस राज्य में कोविड-19 की तीसरी लहर का कारण बन सकता है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here