Chandira Priyanga

पुडुचेरी में नवनिर्मित सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल किए गए पांच विधायकों ने आज एक शपथ-ग्रहण समारोह में मंत्री पद की शपथ ली। इनमें एक महिला विधायक चंदिरा प्रियंगा ने भी मंत्री पद की शपथ ली है। पुडुचेरी के 41 साल में पहली बार ऐसा हो रहा है जब एक महिला विधायक सरकार में शामिल होकर मंत्री बनी है। आपको बता दें कि इसके साथ ही पुडुचेरी जैसे केंद्र शासित राज्य में भी ये पहली बार है जब भाजपा नीत एनडीए (NDA) ने यहाँ सरकार बनाई है।चंदिरा प्रियंगा का मंत्रिमंडल में शामिल होना कई मायनों में ऐतिहासिक है। ऐसे में प्रदेश में चंदिरा प्रियंगा (Chandira Priyanga) की सबसे अधिक चर्चा हो रही है।

चलिए आपको बताते हैं इसकी वजह, इसका मुख्य कारण है कि 41 साल में पहली बार ऐसा हुआ जब महिला के तौर पर चंदिरा सरकार में शामिल हो रही हैं। चंदिरा दूसरी बार विधायक बनी हैं, इससे पहले 2016 के चुनाव में भी उन्होंने जीत हासिल की थी। चंदिरा ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस (All India NR Congress) की नेता हैं। 2021 चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी को आठ हज़ार से अधिक वोट से पराजित किया था। चंदिरा 2011 में सरकार में मंत्री रहे एम चंदिराकासु की पुत्री हैं। चंदिरा प्रियंगा ने मंत्री पद की शपथ लेने के बाद कहा कि महिला और पुरुष में कोई अंतर नहीं है। मैं काम करके इसे सिद्ध करूंगी तथा साथ ही मेरा मुख्य उद्देश्य शिक्षा और युवाओं को नौकरी दिलाना भी होगा।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here