दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में हुई पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के बाद फरार हुए ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील ने 19 दिनों की फरारी में अनेक ठिकाने बदले। गिरफ्तारी से बचने के लिए वह लगातार अपने  ठिकाने बदलता रहा। दिल्ली से फरार होने के बाद सुशील उत्तर प्रदेश होते हुए सीधे उत्तराखंड गया, जहां से वह हरियाणा, पंजाब, फिर हरियाणा और आखिर में वापस दिल्ली आया। इस दौरान पुलिस से बचने के लिए आरोपी ने इन पांच प्रदेशों में 19 जगहों पर अपने जानकारों की मदद से पुलिस से बचने के लिए शरण ली थी। दिल्ली में ही उसने चार बार ठिकाने बदले। हरियाणा के बहादुरगढ़ में भी वह तीन अलग-अलग जगहों पर रहा। इसके बाद झज्जर में भी वह दो जगहों पर रुका। फिर वह चंडीगढ़ गया, जहां उसने दो जगह ठिकाने बनाए। फिर वह बठिंडा में आकर ठहरा। यहां से वापस चंडीगढ़ गया तो इस बार नए ठिकाने पर पहुंचा और फिर चंडीगढ़ से गुरुग्राम पहुंचकर कुछ देर ठहरा। इसके बाद सुशील पश्चिमी दिल्ली पहुंचा, जहां उसने एक व्यक्ति से मुलाकात की। यहां भी थोड़ी ही देर रुकने के बाद सुशील अपनी कार छोड़कर स्कूटी से मुंडका पहुंचा।

यहीं पर पुलिस से उसकी लुकाछिपी खत्म हो गई और वह गिरफ्तार कर लिया गया। दरअसल, घटना वाली रात छात्रसाल स्टेडियम में सुशील कुमार के साथियों ने सागर और उसके दोस्तों के साथ मारपीट करने के दौरान उन्हें डराने के लिए गोली चला दी। इसके बाद किसी तरह इस मौके से अपनी जान बचाकर भागे एक युवक ने पुलिस को खबर दी। आनन-फानन में मॉडल टाउन थाने की पुलिस वारदात वाली जगह पर पहुंची। पुलिस के स्टेडियम आने की खबर सुशील को मिली तो वह अपने दोस्तों के साथ फरार हो गया। लेकिन सुशील का एक साथी प्रिंस पकड़ा गया। उसके पास से पुलिस ने एक मोबाइल जब्त किया, जिसमें पूरी घटना का वीडियो था। इस वीडियो को जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया तो पता चला कि वीडियो असली है। तभी से पहलवान सुशील की मुश्किलें बढ़ गईं, क्योंकि वह इस वीडियो में मारपीट करते हुए दिखाई दे रहा है।

सागर हत्याकांड में प्रिंस के फोन से मिले मारपीट के वीडियो को लेकर सुशील से पूछताछ की गई। पुलिस को सुशील ने बताया कि छत्रसाल स्टेडियम में हुई मारपीट की घटना के बाद वह सो गया था। उसे यकीन नहीं था कि मारपीट में सागर को इतनी चोट लग जाएगी कि उसकी मौत हो जाएगी। सागर को तो डराने-धमकाने के लिए मारा-पीटा गया था। सागर की पिटाई का यह वीडियो भी इसलिए बनाया गया था, ताकि उसे वायरल कर यह बताया जा सके कि सुशील पहलवान से पंगा लेने वालों का क्या हाल होता है।फिलहाल सुशील और उसके साथी से गहरी पूछताछ चल रही है।ऐसा माना जा रहा है कि इनसे कड़ी पूछताछ के बाद इनके कुछ और साथियों की भी गिरफ्तारी हो सकती है। लिहाजा, पुलिस अभी सुशील व अजय को लेकर ज्यादा जानकारी साझा नहीं कर रही है। जिन लोगों ने इन आरोपियों मदद की और जो लोग मारपीट में शामिल थे, उनके बारे में पूछताछ कर पुलिस उनके ठिकानों पर छापा मार रही है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक एवं फॉलो करें तथा विस्तार से न्यूज़ पढने के लिए हिंदीरिपब्लिक.कॉम विजिट करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here